Home मंडी डबवाली कांग्रेस ने बढ़ रही पेट्रोल डीजल की कीमतों के विरोध में किया जोरदार प्रदर्शन

कांग्रेस ने बढ़ रही पेट्रोल डीजल की कीमतों के विरोध में किया जोरदार प्रदर्शन

9 second read
0
0
220
केवी सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस ने बढ़ रही पेट्रोल डीजल की कीमतों के विरोध में किया प्रदर्शन
सरकार ने किसानों की आमदनी की जगह लागत कर दी दुगनी- डॉ केवी सिंह
भारत के इतिहास में पहली बार डीज़ल हुआ पेट्रोल से महंगा- डॉ केवी सिंह
कांग्रेस पार्टी द्वारा निरंतर बढ़ रही पेट्रोल एवम् डीज़ल की कीमतों के विरोध में आज पूरे भारत में विरोध प्रदर्शन किया गया, जिसके तहत हल्का डबवाली में वरिष्ठ कांग्रेस नेता आल इंडिया कांग्रेस कमेटी के सदस्य डॉ केवी सिंह के नेतृत्व में सैंकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने स्थानीय लघुसचिवालय में विरोध प्रदर्शन किया।
           प्रदर्शन दौरान डॉ केवी सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि करोना महामारी के चलते पूरे देश के आर्थिक हालात खराब हो गए, बेरोजगारी बढ़ गई और आमजन को रोजमर्रा की जिंदगी यापन करने में भारी मुश्किल का सामना करना पड़ा। ऐसे में जहां सरकार को आमजन को राहत देनी चाहिए थी वहीं उसके विपरित सरकार ने पिछले तीन महीनों में डीज़ल की कीमतों में रिकॉर्ड 19 रूपए की वृद्धि कर आम आदमी की कमर तोड़ने का काम किया है। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की आमदनी दुगनी करने की बात करती थी पर आज आमदन की जगह लागत दुगनी कर दी गई है। एक तरफ जहां डीज़ल की कीमतों में 19 रूपए की वृद्धि सरकार द्वारा की गई है वहीं धान और कपास के समर्थन मूल्य में क्रमशः 53 पैसे और 2.25 रूपए प्रति किलो की नाममात्र वृद्धि कर किसानों से भद्दा मज़ाक किया गया है।    उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मेरा पानी मेरी विरासत का नारा देकर किसानों को धान की जगह मक्की  की खेती करने को कह  मक्की का समर्थन मूल्य 1750 रूपए बता रहे हैं  जबकि आज मक्की मात्र 600 रूपए के भाव बिक रही है,और वहीं टैरिफ रूल के तहत आयात शुल्क को 50 प्रतिशत से 15 प्रतिशत कर 5 लाख टन मक्की का आयात विदेशों से किया जा रहा है उन्होंने कहा कि अभी ही मक्की का भाव किसानों को नहीं मिल रहा है तो जब 5 लाख टन मक्की का आयात होगा तब मक्की की कीमत और भी नीचे अा जाएगी और किसानों को लागत का भाव भी नहीं मिलेगा। ऐसे में कैसे किसानों की आमदन दुगनी होगी? उन्होंने कहा कि इसी टैरिफ रूल के जरिए आयात शुल्क कम करके विदेशों से 10 हजार टन मिल्क पाउडर मंगवाया जा रहा है जिस से दूध उत्पादक छोटे किसानों को नुकसान होगा।डॉ केवी सिंह ने कहा कि भारत में पहली बार ऐसा हुआ है कि डीज़ल पेट्रोल से भी महंगा हो गया है।
       डॉ सिंह ने कहा कि अभी कोई चुनाव नहीं है और ना ही ये वक्त राजनीति करने का है लेकिन कांग्रेस की विचारधारा रही है कि वो हमेशा आमजन के हित के लिए लड़ाई लड़ती रही है और आज भी हमने सरकार द्वारा जनता के विरोधी फैसले के खिलाफ प्रदर्शन किया है ताकि गूंगी बहरी सरकार को जगाया जा सके। उन्होंने कहा कि केंद्र में कांग्रेस सरकार के समय अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 118 डॉलर प्रति बैरल थी पर हमारी सरकार ने कभी डीज़ल के रेट को 62.50 रूपए से ज्यादा नहीं होने दिया जबकि आज कच्चे तेल की कीमत मात्र 40 डॉलर प्रति बैरल है और डीज़ल 80 रूपए बेच कर सरकार अपना खजाना भरने में लगी हुई है, सरकार को आमजन की कोई चिंता नहीं।
                 डॉ केवी सिंह ने कहा कि सरकार अब प्रजातंत्र को खत्म करने में लगी हुई है जिसका उदाहरण है कि आज पंचायतों को उनके 5 साल के कार्यकाल से पहले ही भंग करने का प्रयास किया जा रहा है। हमें सब को मिल कर सरकार द्वारा किए जा रहे ऐसे कार्यों का विरोध करना चाहिए। उन्होंने कहा कि टिड्डी दल द्वारा फसलों को पहुंचाए गए नुकसान को सरकार प्राकर्तिक आपदा घोषित कर फसलों के नुकसान का मुआवजा दे ताकि किसानों को राहत मिल सके।
               उन्होंने कहा कि नोटबंदी, धान, आदि घोटालों के बाद अब शराब घोटाला सामने आया है जिस पर सत्ता में भागदार दोनों पार्टियों के नेताओं के बयान आपा विरोधी हैं जिस से स्पष्ट पता चलता है कि सरकार को आमजन की कोई परवाह नहीं बस दोनों लूट खसूट करने के लिए सत्ता में भागीदार बनें हुए हैं।
         उन्होंने सरकार को चेताते हुए कहा कि अगर सरकार ने पेट्रोल एवम् डीज़ल की कीमतों में कमी ना कि तो कांग्रेस पार्टी देश स्तर पर आंदोलन कर सरकार को कीमतें कम करने के लिए विवश कर देगी। इस अवसर पर सैंकड़ों की तादाद में कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Check Also

डबवाली के विधायक अमित सिहाग ने बढ़ रहे करोना संक्रमण पर व्यक्त की गहरी चिंता

सरकार की गलत स्…