Home मंडी डबवाली डबवाली पुलिस ने सुलझाई ब्लाइंड मर्डर की गुथी, हुआ चौंकाने वाला खुलासा

डबवाली पुलिस ने सुलझाई ब्लाइंड मर्डर की गुथी, हुआ चौंकाने वाला खुलासा

10 second read
0
0
407

सदर थाना पुलिस ने एक सप्ताह से भी कम समय में ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी को सुलझाते हुए घटना के आरोपी दो युवकों को गिररफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान सतवंत सिंह व बसंत सिंह पुत्र नाजम सिंह निवासी गांव फूल्लोखारी के तौर पर हुई है। इस संबंध में जानकारी देते हुए डीएसपी कुलदीप बैनीवाल ने बताया कि विगत 22 जुलाई को सदर पुलिस को गांव पाना के समीप बहने वाली भाखड़ा नहर के पुल के पास एक शव व एक मोटरसाईकिल भी खड़ी होने की सूचना मिली। जिसके बाद सदर पुलिस की टीम उपनिरिक्षक नरेश कुमार के नेतृत्व में पहुंची और आवश्यक कार्रवाई उपरांत शव को अपने कब्जे में लेकर गांव पाना के चौकीदार अजीत सिंह के बयान पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। जिसके बाद पुलिस टीम ने सीनऑफ क्राइम व डॉगस्वायर्ड को मौके पर बुलाया और घटना स्थल से अहम तथ्य जुटाए। पुलिस टीम को वहां कच्ची जगह में खून के निशान व खून से सना लकड़ी का एक डंडा भी बरामद हुआ और रास्ते में सड़क की बाई तरफ खून की बूंदे मिली। जिसके बाद टीम ने अन्य तथ्यों के साथ आसपास इसकी जांच शुरू कर दी। जिसके बाद मृतक की पहचान गगनदीप पुत्र गुरबचन सिंह निवासी गांव बहमनजस्सा, जिला बठिंडा के तौर पर हुई।
तदोपरांत पुलिस अधीक्षक डा. अर्पित जैन के दिशानिर्देश अनुसार डीएसपी कुलदीप बैनीवाल की देखरेख में सदर थाना प्रभारी देवीलाल व साइबर सेल की मदद से पुलिस ने एक सप्ताह से भी कम समय में ब्लाईड मर्डर की गुत्थी को सुलझाते हुए गांव फूल्लोखारी तक पहुंचकर आरोपियान दोनों भाईयों को धर दबोचा। डीएसपी कुलदीप बैनीवाल व सदर थाना प्रभारी देवी लाल ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी सतवंत व बसंत ने बताया कि करीब दस वर्ष पूर्व गगनदीप ने उनकी नाबालिग बहन के साथ छेड़छाड़ की थी जिसका बाद में पंचायती तौर पर निपटारा कर दिया था, लेकिन गगनदीप उनसे रंजिश रखने लगा और उन्हें लगातार फोन पर धमकियां देता व उनकी बहन के बारे में अपशब्द बोलता था। विगत २० जुलाई को भी गगनदीप ने बसंत सिंह को फोन उन्हें जान से मारने ओर उनकी बहन को उठाकर ले जाने की धमकी देता। जिससे टेलीफोन पर हुई तू-तू-मै-मै से उनकी तकरार बढ़ गई ओर इससे परेशान होकर उन्होंने गगनदीप को सबक सिखाने की योजना बनाई।
डीएसपी कुलदीप बैनीवाल ने बताया कि आरोपी सतवंत सिंह ने अपनी बहन की मार्फत गगनदीप को फोन करवाया और उसे अपने गांव फूल्लोखारी बुलाया। योजना के अनुसार सुखवंत सिंह व बसंत सिंह डंडे व अन्य हथियार लेकर घात लगाए बैठे थे। उन्होंने गगनदीप के वहां पहुंचते ही हमला कर दिया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जिसके बाद आरोपी सतवंत सिंह, बसंत सिंह व कुलदीप कौर ने शव को खुर्दबुर्द करने के लिए एक गाड़ी में डालकर भाखड़ा नहर में फैंक दिया और मोटरसाईकिल को भी वहीं नहर किनारे खड़ा कर दिया। उन्होंने बताया कि आरोपियों को अदालत में पेशकर रिमांड पर लिया जाएगा और वारदात में प्रयुक्त हथियार व अन्य सामान बरामद किया जाएगा। डीएसपी कुलदीप बैनीवाल ने बताया कि ब्लाईंड मर्डर की इस गुत्थी को सुलझाने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक डा. अर्पित जैन ने सम्मानित करने की घोषणा भी की है।

Leave a Reply

Check Also

सीआईए कालांवाली पुलिस टीम की बड़ी सफलता, अंतराज्यीय लूट गिरोह का पर्दाफाश

सीआईए कालांवाë…