Home मंडी डबवाली डबवाली के सामन्य अस्पताल में लगाया जाए ऑक्सीजन प्लांट-MLA

डबवाली के सामन्य अस्पताल में लगाया जाए ऑक्सीजन प्लांट-MLA

8 second read
0
0
118
डबवाली के सामन्य अस्पताल में लगाया जाए ऑक्सीजन प्लांट व मेडीकल स्टाफ की पूर्ति के लिए युद्ध स्तर पर की जाए अस्थाई भर्तियां : अमित सिहाग
आईएमए से मान्यता प्राप्त डॉक्टरों से की हेल्पलाइन शुरु करने की अपील
हल्का डबवाली के विधायक अमित सिहाग करोना महामारी के दौर में व्यस्था में सुधार के लिए निरन्तर प्रयास कर रहे हैं। चाहे डबवाली के सामान्य अस्पताल में कोविड केयर अस्पताल एवम् चौटाला में कोविड केयर सेंटर शुरू करने की बात हो या घरों में रह कर इलाज करवा रहे मरीजों को आक्सीजन उपलब्ध करवाने की बात हो या फिर हॉट स्पॉट क्षेत्रों सहित ग्रामीण स्तर पर संक्रमण की टेस्टिंग को बढ़ाने की मांग हो, इन सब मुद्दों को विधायक ने उठाया और सरकार ने भी उनकी अधिकतम मांगों को मानने का काम किया है।
          इसी श्रंखला में विधायक अमित सिहाग ने कोविड से संबंधित कुछ और अहम मांगें सरकार व प्रशासन के समक्ष रखी हैं जिनमे प्रमुखता से उन्होंने डबवाली के सामान्य अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट लगाने की मांग रखी है। उन्होंने कहा है कि ऑक्सीजन करोना के मरीजों के लिए जीवन रेखा का काम करती है इसलिए कोविड केयर अस्पताल तभी कारगर साबित हो सकता है जब वहां पर आक्सीजन पर्याप्त मात्रा में हो, ऐसे में सरकार को करनाल आदि शहरों की तर्ज पर डबवाली के सामान्य अस्पताल में भी तुरंत आक्सीजन प्लांट को मंजूरी दी जाए ताकि आक्सीजन की कमी से किसी मरीज की जान को खतरा न पैदा हो।
                विधायक ने कहा कि सरकार ने घोषणा भी की थी की उपमंडल स्तर पर आक्सीजन प्लांट लगाए जायेंगे ऐसे में डबवाली के सामान्य अस्पताल में प्राथमिकता से प्लांट को मंजूरी दी जाए।
                सिहाग ने मांग रखते हुए कहा है कि सरकार ने बीपीएल कार्ड धारकों के लिए करोना संक्रमण के इलाज को निशुल्क किया है, और बहुत से ऐसे परिवार भी हैं जो लॉकडाउन के कारण आर्थिक रूप से टूट चुके हैं ऐसे परिवारों को चिन्हित कर उनके सहित सभी लोगों का बीपीएल कार्ड धारकों की भांति करोना संक्रमण का ईलाज निशुल्क किया जाए।
                  विधायक ने कहा कि  कई ऐसी भी दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थितियां हैं जिनमे परिवार को चलाने वाला करोना की चपेट में आ गया और पीछे परिवार को चलाने वाला कोइ नही हे और परिवार का गुज़ारा मुश्किल हो गया है। सरकार ऐसे परिवारों की जानकारी लेकर उनके लिए आर्थिक सहायता देने का काम करे।
               अमित सिहाग ने कहा कि कोविड महामारी से लड़ाई के लिए कोविड अस्पताल, कोविड केयर सेन्टर और संसाधनों में तो वृद्धि की जा रही है लेकिन प्रशिक्षित विशेषज्ञ डॉक्टरों,पेरा मेडीकल स्टाफ व टैक्निकल स्टाफ की कमी के चलते ये संसाधन पूरी तरह से कारगर नहीं हैं। ऐसे में सरकार को इस महामारी को देखते हुए अनुबंध के आधार पर अस्थाई स्टाफ की भर्ती करनी चाहिए साथ ही सीएमओ, एसएमओ की फाइनेंशियल शक्तियों को भी बढ़ाया जाए ताकि आपातकाल में वो तुरंत अपने स्तर पर फैसला ले सकें।
                  इसके साथ ही विधायक ने आईएमए से मान्यता प्राप्त डॉक्टरों जिनकी ड्यूटी कोविड संबंधित अस्पताल में नहीं है उसने अपील की है की वो अपने फोन नंबर सार्वजनिक कर एक हेल्पलाइन की तरह सहयोग करे ताकि घरों में ईलाज करवा रहे आइसोलेटेड मरीज उनसे सम्पर्क कर इलाज संबंधित जानकारी ले सकें। उन्होंने कहा कि डबवाली क्षेत्र के आईएमए संस्था के प्रमुख से वो खुद भी इस विषय पर बात कर अपील करेंगे।

Leave a Reply

Check Also

सीआईए कालांवाली पुलिस टीम की बड़ी सफलता, अंतराज्यीय लूट गिरोह का पर्दाफाश

सीआईए कालांवाë…