Home मंडी डबवाली डबवाली के विधायक अमित सिहाग ने बढ़ रहे करोना संक्रमण पर व्यक्त की गहरी चिंता

डबवाली के विधायक अमित सिहाग ने बढ़ रहे करोना संक्रमण पर व्यक्त की गहरी चिंता

8 second read
0
0
79
सरकार की गलत स्वार्थी प्राथमिकताओं के चलते गहराता जा रहा है करोना संकट : अमित सिहाग
पहली लहर की बजाए करोना की दूसरी लहर ज्यादा घातक, बहुत तेजी से फैल रहा संक्रमण: अमित सिहाग
हल्का डबवाली के विधायक अमित सिहाग ने बढ़ रहे करोना संक्रमण पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए आमजन को कोविड नियमों की पालना करने का आह्वान करते हुए मास्क, सेनेटाइजर एवम् उचित दूरी बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने बढ़ रहे संक्रमण को लेकर सरकार को भी नसीहत दी है।
        विधायक ने जारी की गई प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से सरकार को घेरते हुए कहा कि दो गज की दूरी मास्क है जरुरी का नारा देने वाले आज अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए बड़ी बड़ी रैलियों का आयोजन कर रहे हैं जिनमे न तो कोइ उचित दूरी रखी जाति है और न ही मास्क आदि का प्रयोग किया जाता है। उन्होंने कहा कि जब नारा देने वाले ही कोविड नियमों को तार तार कर रहे हैं ऐसे में आमजन कैसे इन नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित होगा?
            सिहाग ने कहा कि जब जांच प्रतिशत में पांच प्रतिशत से ज्यादा लोग पॉजिटिव आएं तो माना जाता है कि महामारी कंट्रोल से बाहर होती जा रही है। उन्होंने बताया कि 13 फरवरी 2021को तक़रीबन 1.5 प्रतिशत दर से पॉजीटिव केस आ रहे थे जो की 11 अप्रैल 2021 को बढ़ कर तक़रीबन 10.7 प्रतिशत हो गए हैं। सिहाग ने कहा कि करोना की पहली लहर से करोना से संक्रमित होने के पहले 18 हजार से 50 हज़ार केस तक पहुंचने में 32दिन लगे थे जबकि अब दूसरी लहर में ये केवल 17 दिनों में ही पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि पिछली लहर में पहले एक लाख़ संक्रमित केस होने में 84दिन लगे थे और छ से सात लाख़ होने में 16दिन लगे थे और उसकी तुलना में दूसरी लहर से छ से सात लाख़ तक संक्रमित केस केवल 3 दिन में हो गए हैं। विधायक ने कहा कि आंकड़े अपने आप में बताते हैं कि कोविड की दूसरी लहर पहली लहर से ज्यादा घातक है और संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है ऐसे में सरकार आधे अधूरे लॉकडाउन एवम् नाइट कर्फ्यू लगाने के कदम उठा रही है जिस पर विशेषज्ञ भी कोई व्यापक सुधार न होने की बात कह चुके हैं। उन्होंने कहा कि जरुरत थी कि देशवासियों के स्वास्थ की चिंता करते हुए सारी प्राथमिकताओं जैसे बडी बडी चुनावी रैलियां, धार्मिक समागम आदि को स्थगित कर संक्रमण की गति को धीमा किया जाए लेकीन सरकार की गलत राजनीतिक स्वार्थी सोच के चलते देश में करोना का संकट गहराता जा रहा है।
              सिहाग ने कहा कि वो कामना करते हैं कि सरकारें अपनी प्राथमिकताओं को कुछ समय के लिए बदल कर,संवेदनशीलता और सूझ बूझ का परिचय देते हुए, राजनीतिक व धार्मिक कार्यक्रमों में अनावश्यक भीड़ पर रोक लगाने का काम करेंगी तथा व्यापक वैक्सीनेशन के साथ ही अस्पतालों में कोविड से संबंधित जरुरी संसाधन ऑक्सीजन सिलेंडर, वेंटीलेटर, बेड,आवश्यक दवाओं की उपलब्धता की और ध्यान केंद्रित करेंगी।

Leave a Reply

Check Also

सिरसा 141 गांवों के किसानों को पराली न जलाने के लिए विभाग करेगा जागरूक

141 गांवों में रैल…