Home मंडी डबवाली विद्या भारती छियासठ वर्षों से आधारभूत विषय के रूप में कर रही है योग का प्रचार : डी. आर. शर्मा

विद्या भारती छियासठ वर्षों से आधारभूत विषय के रूप में कर रही है योग का प्रचार : डी. आर. शर्मा

23 second read
0
0
1,310

मंडी डबवाली——विद्या भारती के विद्यालय शहीद अशोक वढेरा सरस्वती विद्या मंदिर में विश्व योग दिवस की तैयारियां बड़ी जोरसोर से शुरू हो गई हैं l कार्यक्रम का शुभारम्भ माँ सरस्वती के समक्ष प्रधानाचार्य डी. आर. शर्मा, आयुष संयोजक डा. लोकेशवर वधवा व् योग प्रशिक्षक सुमन कुमार ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया l कार्यक्रम के शुभारम्भ पर प्रधानाचार्य डी. आर. शर्मा ने अतिथियों का परिचय करवाया l इसके साथ विद्यालय के बच्चों ने अनेकों कविताओं एवं गीतों के द्वारा योग का परिचय व् महत्व का गुणगान किया l डा. लोकेश्वर वधवा ने योग की विशेषताओं व् इसको करने के तरीके को चर्चात्मक विषय के रूप में सभी को समझाने का प्रयास किया l इसके बाद दो दिन तक योग का अभ्यास आयुष संयोजक डा. लोकेशवर वधवा व् योग प्रशिक्षक सुमन कुमार के द्वारा बच्चों को करवाया गया और कहा गया की रोजाना घर पर अपने दैनिक समय सारिणी से आधा घंटा निकाल कर अपने शारीर को समर्पित करते हुए योग करना अनिवार्य समझे l बच्चों ने बड़ी लगन व् प्रेरणा से इस गतिविधि में भाग लिया l प्रधानाचार्य डी. आर. शर्मा ने कहा की इस प्रकार की गतिविधियों के माध्यम से बालको में शारीरिक शक्ति, सयंम, संयोजन, कर्मठता व् एकाग्रता का संचार होता है l इन सभी गुणों के द्वारा ही बालक का सर्वांगीण विकास सम्भव है

इन सभी गतिविधियों के माध्यम से विद्या भारती के विषयों की प्रतिपूर्ति सफलता पूर्वक हो रही है l प्रधानाचार्य डी. आर. शर्मा ने सभी बच्चों, स्टाफ सदस्य, प्रबंध समिति एवं अभिभावकों को योग दिवस की पूर्व तैयारी के लिए हार्दिक शुभ कामनाएं दी l और उन्होंने कहा की हम विद्या भारती की योजना के अनुसार अनेकों गतिविधियों के द्वारा बालकों के सर्वांगीण विकास के लिए हमेशा तत्पर हैं l उन्होंने कहा की विद्या भारती सन 1952 से शिक्षा के क्षेत्र में कार्यरत है l और विद्या भारती के पाँच आधारभूत विषयों में से प्राण संचार का काम योग शिक्षा कर रही है l जिसके कारण विद्या भारती के विद्यालय से पढ़ने वाला बालक आज समाज में अपनी प्रतिष्ठा कायम रखते हुए इस प्रतियोगी युग में अपनी पहचान बना रहा है l बालक के विकास में कोई भी किसी प्रकार की अवरुधता पैदा न हो l इस लिए हम योजनावद्ध तरीके से, समझदारी व् मजबूती से काम करते हुए विद्यालय को आगे बढ़ने में निरंतर सहयोग कर रहे हैं l और कहा की बालक का बौधिक विकास योग से पूर्णतः सम्भव होगा l अंत में उन्होंने कहा की विद्या भारती अपने विद्यालय के माध्यम से बालको को पिछले छियासठ वर्षों से प्राणिक व् शारीरिक रूप से पुष्ट कर रही है l आयुष विभाग द्वारा सुनियोजित शारीरिक आचार्यों के लिए दो दिवसीय योग अभ्यास शिविर में विद्यालय व् संकुल के योग प्रमुख आचार्य बलविंदर सिंह ने भाग लिया l और उन्होंने बताया की इस प्रकार के योग अभ्यास से आम जन की सोच प्रभावित हो रही और वे अपने शरीर को स्वास्थ्य बनाने के लिए भरपूर प्रयास बी कर रहे हैं l मंच संचालन आचार्य हेमराज ने बखूबी से किया l कार्यक्रम की व्यवस्था की जिम्मेवारी निलगिरी हाउस के सभी सदस्यों ने बखूबी से निभाई l सभी आचार्य गण इस कार्यक्रम में उपस्थित रहे l

Leave a Reply

Check Also

प्रेस क्लब अध्यक्ष फ़तेह सिंह आजाद ने पूर्व विधायक के 100वें जन्मदिन पर दी शुभकामनाएं

मंडी डबवाली। प…