Home स्कूल हरियाणा बोर्ड कक्षा 12वीं के नतीजे हुए जारी: 80.34% रहा परिणाम

हरियाणा बोर्ड कक्षा 12वीं के नतीजे हुए जारी: 80.34% रहा परिणाम

15 second read
0
2
674

हेमराज बिरट, तेज़ हरियाणा न्यूज़ डेस्क:
————————————-


भिवानी: हरियाणा विद्यालय विद्यालय शिक्षा बोर्ड की मार्च-2020 में संचालित सीनियर सैकेण्डरी (शैक्षिक) परीक्षा का परिणाम 80.34 फीसदी रहा है तथा स्वयंपाठी परीक्षार्थियों का परिणाम 64.83 फीसदी रहा है। परीक्षार्थियों की सुविधा के दृष्टिगत बोर्ड द्वारा प्रमाण-पत्र व रिजल्ट डिजीटल लॉकर में सुरक्षित रखने का निर्णय लिया गया है, जिसे आवश्यकतानुसार बोर्ड की वैबसाईट से डाउनलोड किया जा सकेगा। इससे परीक्षार्थियों को अगली कक्षा में प्रवेश लेने में परेशानी नहीं होगी।
इस परीक्षा परिणाम की घोषणा करते हुए बोर्ड अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह एवं बोर्ड सचिव राजीव प्रसाद, ह.प्र.से. ने संयुक्त रूप से बताया कि परीक्षार्थी अपने परीक्षा परिणाम आज 21 जुलाई को सायं 5.00 बजे बोर्ड की वेबसाईट www.bseh.org.in पर देख सकते हैं। उन्होंने बताया कि शैक्षिक परीक्षा में 86.30 प्रतिशत कामयाब लड़कियों की तुलना में 75.06 प्रतिशत ही लडक़े सफलता प्राप्त कर सके हैं। इस प्रकार लड़कियों ने लडक़ों से 11.24 फीसदी ज्यादा पास प्रतिशतता देकर बढ़त हासिल की है।
बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि इस परीक्षा में कला संकाय में मनीषा पुत्री मनोज कुमार, रा०व०मा०वि०, सिहमा, महेन्द्रगढ़ की छात्रा ने 500 में से 499 अंक अर्जित करके प्रथम स्थान प्राप्त किया है। द्वितीय स्थान पर मोनिका पुत्री अजय कुमार, रा०व०मा०वि०, चमारखेड़ा, हिसार एवं अमनदीप कौर पुत्री पाल सिंह, आदर्श व०मा०वि०, लखुवाणा, सिरसा ने 500 में से 497 अंक प्राप्त किए तथा तृतीय स्थान वर्षा पुत्री आजाद सिंह, रा०व०मा०वि०, जाडऱा, रेवाड़ी ने 500 में से 495 अंक प्राप्त किए।
वाणिज्य संकाय में प्रथम स्थान पुष्पा पुत्री जोरा सिंह, के०वी०एम० व०मा०वि०, पाई, कैथल एवं संयम पुत्र हरदीप भैयाणा, शारदा व०मा०वि०, फतेहाबाद ने 500 में से 498 अंक प्राप्त किए। द्वितीय स्थान अंशु पुत्री विरेन्द्र कुमार, पी०जी०एस०डी०व०मा०वि०, हिसार एवं मुस्कान पुत्री सुरेन्द्र, एस०डी०कन्या महाविद्यालय, नरवाना, जीन्द ने 500 में से 496 अंक प्राप्त किए। तृतीय स्थान पर जसप्रीत सिंह पुत्र अत्तर सिंह, रा०मॉडल संस्कृति व०मा०वि०, इस्माईलाबाद, कुरूक्षेत्र, विशाखा पुत्री विरेन्द्र, एस०डी०कन्या महाविद्यालय, नरवाना, जीन्द, बबीता पुत्री लक्ष्मी नारायण, पी०जी०एम०व०मा०वि०, बहरामपुर भंडग़ी, रेवाड़ी एवं सिमरण पुत्री किशोरी लाल, न्यू सनराईज व०मा०वि०, भूना, फतेहाबाद ने 500 में से 495 अंक हासिल किए हैं।
विज्ञान संकाय में प्रथम स्थान पर भावना यादव पुत्री बिजेन्द्र कुमार, रा०व०मा०वि०, बोडिया कमालपुर, रेवाड़ी ने 500 में से 496 अंक प्राप्त किए। द्वितीय स्थान पर अमित पुत्र गंगा राम, सरस्वती व०मा०वि०, मिलकपुर-ाा, भिवानी, मोनू कुमारी पुत्री रामचन्द्र, प्रज्ञा व०मा०वि०, भांडवा, चरखी दादरी, श्रुतिका पुत्री जगमेन्द्र, रा०व०मा०वि०, बहौली, कुरूक्षेत्र एवं काजल पुत्री मुकेश, दी हाईटस व०मा०वि०,खुडण, झज्जर ने 500 में से 495 अंक प्राप्त किए तथा तृतीय स्थान पर मुस्कान पुत्री सुनील, ए०आर०ई०डी०व०मा०वि०, डोहका हरिया, चरखी दादरी, सचिन पुत्र कुलदीप शर्मा, सरस्वती व०मा०वि०, पाई, कैथल, संजू पुत्री चन्दन सिंह, स्वीट एंजेल व०मा०वि०, पलवल, मन्दीप कोडान पुत्र सतीश कुमार, महर्षि दयानन्द व०मा०वि०, खुडन, झज्जर एवं स्वेता रानी पुत्री सत्यवीर सिंह, सरस्वती व०मा०वि०, मिलकपुर-ाा, भिवानी ने 500 में से 494 अंक प्राप्त किए।
अध्यक्ष ने बताया कि सीनियर सैकेण्डरी (शैक्षिक) परीक्षा में 2,12,693 परीक्षार्थी प्रविष्ठ हुए थे, जिनमें से 1,70,881 उत्तीर्ण हुए एवं 32,361 परीक्षार्थियों की कम्पार्टमेंट आयी है कम्पार्टमेंट की प्रतिशतता 15.21 रही तथा 9,451 परीक्षार्थी परीक्षा में अनुत्तीर्ण रहे हैं अनुत्तीर्ण की प्रतिशतता 04.44 रही। इस परीक्षा में 1,12,816 छात्र बैठे थे, जिनमें 84,685 पास हुए तथा 99,877 प्रविष्ठ छात्राओं में से 86,196 पास हुई। उन्होंने आगे बताया कि इस परीक्षा में राजकीय विद्यालयों की पास प्रतिशतता 79.78 रही तथा प्राईवेट विद्यालयों की पास प्रतिशतता 80.97 रही है। इस परीक्षा में ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों की पास प्रतिशतता 79.14 रही है, जबकि शहरी क्षेत्र के विद्यार्थियों की पास प्रतिशतता 82.28 रही है।
उन्होंने बताया कि सीनियर सैकेण्डरी परीक्षा के स्वयंपाठी परीक्षार्थियों का परिणाम 64.83 प्रतिशत रहा है। इस परीक्षा में 13,060 परीक्षार्थी प्रविष्ठ हुए जिनमें से 8,467 उत्तीर्ण हुए एवं 3,126 परीक्षार्थियों की कम्पार्टमेंट आयी है तथा 1,467 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण हुए ।
बोर्ड सचिव राजीव प्रसाद ने बताया कि लॉकडाउन (कोविड-19 महामारी) से पूर्व सीनियर सैकेण्डरी परीक्षा के कुछ विषयों की परीक्षाएं ही संचालित करवाई जा सकी थी। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा अपनाई गई अंकन नीति अनुसार ही शिक्षा बोर्ड, भिवानी द्वारा भी सम्पन्न करवाए गए विषयों की परीक्षा के औसत अंकों के आधार पर अंक माने गए हैं तथा तदानुसार ही परिणाम निकाला गया है।
उन्होंने आगे बताया कि यदि कोई परीक्षार्थी घोषित हुए परिणाम से संतुष्ट नहीं है तो वह बोर्ड की आगामी होने वाली परीक्षा में आंशिक अंक सुधार कर सकता है, जिसके लिए परीक्षार्थी को दो अवसर दिए जाएगें।
उन्होंने बताया इसमें किसी भी प्रकार की तकनीकी खराबी/त्रुटि के लिए बोर्ड कार्यालय जिम्मेवार नहीं होगा। उन्होंने बताया कि स्वयंपाठी परीक्षार्थियों के साथ-साथ विद्यालयी परीक्षार्थियों का परिणाम अनुक्रमांक के आधार पर लिया जा सकता है। विद्यालयों द्वारा अपने परीक्षार्थियों का परिणाम यूजर आईडी व पासवर्ड द्वारा लॉगिन करते हुए डाउनलोड भी किया जा सकता है।
श्री राजीव प्रसाद, ह.प्र.से. ने बताया कि इन परीक्षा परिणामों के आधार पर जो परीक्षार्थी अपनी उत्तरपुस्तिकाओं की पुन: जाँच अथवा पुनर्मूल्यांकन करवाना चाहते हैं तो वे ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं। पुन: जाँच/पुनर्मूल्यांकन निर्धारित शुल्क सहित परिणाम घोषित होने की तिथि से 20 दिन तक ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं।

Leave a Reply

Check Also

अबूबशहर में बने फुट ओवरब्रिज को शिफ्ट करने एवम् अबूबशहर लोहगढ़ सड़क पर बंद पड़े रेलवे फाटक को खुलवाने की रखी मांग

विधायक अमित सि…