Home सिरसा डेरा सच्चा सौदा के प्रति ऐसी आस्था आज तक नही देखी होगी

डेरा सच्चा सौदा के प्रति ऐसी आस्था आज तक नही देखी होगी

9 second read
0
1
508

सिरसा-पन्नू

देशभर में लॉकडाउन के चलते जहाँ दैनिक जीवन के कार्य तो रूके हुए हैं ही,वहीं कुछ लोग सांसरिक यात्रा पूरी कर इस लोक से जा चुके हैं उनकी अंतिम रस्में भी रूके हुए हैं। ऐसा ही एक मामला सिरसा में आज देखने को मिला जहाँ 95 वर्षीय डेरा अनुयाई कौड़ी इन्सां बीते दिनों अपनी सांसारिक यात्रा पूरी कर कुल मालिक के चरणों में जा विराजी। आपको बता दें माता कौडी देवी इन्सां का पूरा परिवार पिछले कई दशकों से डेरा सच्चा सौदा से जुड़ा है।

 

मृतक कौड़ी देवी इन्सां ने अपनी मृत्यु से पहले डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख पूज्य संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की रहनुमाई में अपने मृत्यु के बाद मरणोपरांत शरीर मेडिकल रिसर्च के दान करने का लिखित में संकल्प लिया हुआ था। लेकिन इन दिनों कोरोना वैश्विक महामारी में लॉकडाउन लगा हुआ है जिसके कारण मृतक कौड़ी देवी का शरीर मेडिकल रिसर्च के दान नहीं हो पाया।

ऐसे में मृतक के परिवार ने माता कौड़ी देवी इन्सां के अंतिम रस्म के अनुसार संस्कार करके उन्ही अस्थियों पर डेरा सच्चा के पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की शिक्षाओं पर चलते हुए उन मानव अस्थियों पर पौधा रोपित कर पर्यावरण संरक्षण की अद्भुत ऐतिहासिक इबारत लिख दी।

वहीं मृतक कौड़ी देवी इन्सां के पौत्र अनिल इन्सां ने बताया की हमारी दादी का बीते दिन देहांत हो गया था। हमारे पुरे परिवार ने मरणोपरांत अपना शरीर दान करने का लिखित में पर्ण ले रखा है उन्होंने बताया की मेरी दादी कौड़ी देवी इन्सां ने भी पूज्य संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की रहनुमाई में मरणोपरांत शरीर दान का फार्म भरा हुआ था मगर हम लॉक डाउन के चलते हमारी मृतक दादी का शरीर मेडिकल रिसर्च के नहीं भेज पाए। लेकिन हमने पूज्य गुरु की शिक्षाओं पर चलते हुए दादी की अस्थियों पर पौधा रोपित कर पर्यावरण संरक्षण को एक नई पहल दी है।

Leave a Reply

Check Also

महाराजा अग्रसेन जी की जयंती के दूसरे चरण में नंदीशाला में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित

डबवालीअखिल भाë…