Home मंडी डबवाली देश और प्रदेश में कांग्रेस की लहर, बीजेपी के उम्मीदवारों को गांव में घुसने नही दे रहे ग्रामीण-अशोक तंवर

देश और प्रदेश में कांग्रेस की लहर, बीजेपी के उम्मीदवारों को गांव में घुसने नही दे रहे ग्रामीण-अशोक तंवर

10 second read
0
0
1,709

देश और प्रदेश में चल रही है परिवर्तन की लहर:डा.अशोक तंवर
बीजेपी के उम्मीदवारों को गांव में घुसने नही दे रहे ग्रामीण:डा.अशोक तंवर
डा.तंवर ने चोपटा और डबवाली में किया चुनावी कार्यालयों का उदघाटन
डा.तंवर के नेतृत्व में 200 परिवार हुए कांग्रेस में शामिल

सिरसा: तेज़ हरियाणा

देश और प्रदेश में अब परिवर्तन की लहर चल रही है और मोदी कहर से त्रस्त देश की जनता बीजेपी को जड़ से उखाड़ फैंकने का काम करेगी। 2014 में जो नाटक भाजपा ने किया था वो समाप्त हो चुका है और अब तो प्रधानमंत्री मोदी की रैली में टीवी चैनल वाले भी अपने कैमरों का मुंह भीड़ की तरफ करने से परहेज करने लग गए है क्योकि अब तो भीड़ से ये आवाज आनी शुरू हो गई है कि झूठा है,जुमलेबाज है और ……… है। ये बात हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सिरसा संसदीय सीट से कांग्रेस उम्मीदवार डा.अशोक तंवर ने वीरवार को अपने जनसंपर्क अभियान के दौरान लोगों से कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने की अपील करते हुए कही।डा.तंवर ने वीरवार को चोपटा और डबवाली में चुनाव कार्यालयों का उदघाटन किया और 200 से भी ज्यादा परिवारों के कांग्रेस में शामिल होने पर उनका स्वागत किया।उदघाटन अवसर पर पूर्व विधायक भरत सिंह बैनीवाल,वरिष्ठ नेता डा.केवी सिंह,कुलदीप गदराना,संजय हिटलर,जग्गा बराड़,धर्मपाल कटारिया,रोहित दलाल आदि कांग्रेस नेतागण मौजूद थे। उन्होने ग्रामीणों से देसी भाषा में संवाद करते हुए पूछा कि क्या आपको फसलों का सही दाम मिल रहा है,गांव में पीने का स्वच्छ पानी और बिजली सुचारू रूप से आ रही है या नही? इस पर ग्रामीणों ने स्पष्ट कहा कि बीजेपी के राज में फसलों के उचित भाव मिलना तो दूर की बात है,मुलभूत सुविधाओं का ही टोटा है।डा.तंवर ने ग्रामीणों से कहा कि अब आपके कठिनाई वाले दिन खत्म होने वाले है क्योकि बीजेपी की झूठ की दुकानदारी बंद होने का अब समय आ गया है और यही कारण है कि बीजेपी के उम्मीदवारों को लोग गांव में घुसने तक नही दे रहे है।उन्होने कहा कि आज पूरे देश में माहौल कांग्रेस के पक्ष में बना हुआ है लोगों ने परिवर्तन का मन बना लिया है।
वीरवार को अपने जनसंपर्क अभियान के दौरान डा.तंवर ने सिरसा संसदीय क्षेत्र की दर्जनों शहरी और ग्रामीण जनसभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा ने पांच साल पहले देश के लोगों से झूठे वायदे करके सत्ता हथियाने का काम किया था और अपने पांच के कार्यकाल में किसी भी वायदे को भाजपा ने पूरा नही किया है। उन्होने कहा कि भाजपा का असली चेहरा अब देश की जनता के सामने आ चुका है क्योकि भाजपा अपने 2014 में किए किसी भी वायदे पर जनता के बीच वोट मांगने नही जा रही है। उन्होने भाजपा के नेताओं को बहरूपिया करार देते हुए कहा कि ये लोग रोज गिरगिट की तरह रंग बदलने में माहिर है और कभी चाय वाला तो कभी चौकीदार,तो कभी जुमलेबाजी,तो कभी झूठे लालच देकर पिछले पांच साल से भारत के नागरिकों को ठगने का काम करते रहे है।उन्होने कहा कि पिछले चुनाव में प्रधानमंत्री मोदी चायवाला बनकर लोगों की सहानुभूति लेकर सत्ता पर काबिज हुए तो अब चौकीदार का नारा देकर दोबारा सत्ता हथियाना का असफल प्रयास कर रहे है।उन्होने भाजपा को दलित विरोधी बताते हुए कहा कि समाज के विभिन्न वर्ग विशेषकर किसान,बेरोजगार,आदिवासी,अल्पसंख्यक,छोटे व्यापारी,महिलाएं भाजपा राज में त्राहि-त्राहि करते हुए दिखाई दिए है। डा.तंवर ने कहा कि भाजपा राज में देश का कोई भी वर्ग सुरक्षित नही है और जहां तक महिलाओं की बात है तो चाहे शिक्षण संस्थाएं हो या धार्मिक संस्थान हर जगह महिलाओं से शोषण की घटनाएं अखबारों की सुर्खियां बनी हुई है। उन्होने कहा कि हरियाणा अपराध के मामले में नंबर वन बना हुआ है और विकास ने बीजेपी की सरकार में जन्म ही नही लिया है। बिना आरबीआई की सहमति के नोटबंदी करके देश के व्यापारी वर्ग के साथ एक भद्रा मजाक किया गया,जिसकी भरपाई आज तक नही हुई है। उघोग कई वर्ष पीछे चले गए है। हरियाणा को बीजेपी की सरकार ने चार-चार बार जलाने का काम किया है,जिस कारण जहां कई लोगों की जानें गई तो वही अरबों रूपयों की संपति भी जलकर राख हो गई। डा.तंवर ने कहा कि हरियाणा में कानून व्यवस्था के बदहाल होने का ही नतीजा है कि हरियाणा में कोई भी व्यापारी इन्वेस्टमैंट नही करना चाहता है। इसी प्रकार जीएसटी के कारण भी छोटे उघोग धंधे प्रभावित हुए है। कर्मचारी वर्ग तो पिछले पांच साल से हरियाणा में अपने हकों की मांग के लिए सड़कों पर ही नजर आया है और लाठी-डंडे खा रहा है। उन्होने कहा कि बीजेपी ने कर्मचारियों से किए वायदों को पूरा नही किया है,वो तो सिर्फ लाठी-डंडों से कर्मचारियों को दबाने का काम करने लगी रही है। इसी प्रकार किसान भी बीजेपी के राज में जब अपनी बात रखने सरकार या अधिकारियों के पास जाते है तो उनकी बात को भी नही सुना गया। किसानों के लिए स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने का दावा करने वाली बीजेपी के राज में किसान लगातार धरने आंदोलन कर अपने मांगों को मनवाने का प्रयास करते रहे लेकिन उन्हेें बीजेपी से अब तक मिला कुछ भी नही है।डा.तंवर ने कहा कि देश की जनता अब बदलाव का मन बना चुकी है और लोकसभा चुनावों में वोट की चोट से भाजपा को करारा जवाब देने का काम करेगी।

Leave a Reply

Check Also

महाराजा अग्रसेन जी की जयंती के दूसरे चरण में नंदीशाला में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित

डबवालीअखिल भाë…