Home मंडी डबवाली अब खुईयां मलकाना टोल प्लाजा पर डेरा डालेंगे किसान, पर्ची मुक्त होगा टोल

अब खुईयां मलकाना टोल प्लाजा पर डेरा डालेंगे किसान, पर्ची मुक्त होगा टोल

13 second read
0
0
725

आक्रोश में होश न खो दे कहीं!
किसान आज करेंगे खुईयां टोल प्लाजा पर प्रदर्शन, सरकार अंदोलकारी किसानों की नहीं सुन रही कोई बात, भविष्य को लेकर चिंतित है किसान
डबवाली। केंद्र सरकार द्वारा पारित किए गए तीन कृषि विधयेकों के खिलाफ पिछले लंबे समय से धरने-प्रदर्शन कर सरकार के प्रति अपने रोष का इजहार कर रहा है, लेकिन प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी अपने फैंसले में पूरी तरह अडिग नजर आ रहे हंै और किसानों की दहाड़ को नजरादांज कर रहे हैं। सरकार की इस बेरूखी से किसान दिन प्रतिदिन और अधिक आक्रोषित होता जा रहा है। किसान वर्ग का यह आक्रोश कहीं आपे से बाहर न हो जाए और किसान अपने भविष्य की चिंता को लेकर होश ही न खो बैठे। किसानों ने यदि होश खो दिया तो इसके परिणाम बहुत गंभीर हो सकते हैं।
जिसका खमियाजा केवल केंद्र की भाजपानीत सरकार को ही नहीं बल्कि भाजपा शासित प्रदेश के लोगों पर भी इसका प्रभाव पड़ सकता है। सबसे बड़ी विडंबना तो यह है कि हरियाणा और पंजाब के किसान संगठनों के बैनर तले धरना-प्रदर्शन करते हुए जहां तीखा विरोध कर रहे हैं तो वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर मुख्यमंत्री सहित अंबानी-अडानी जैसे महा व्यवसायियों के पुतलों को लगातार आग के हवाले करते हुए अपना विरोध दर्ज करवा रहा है। इसके अतिरिक्त दशहरा पर्व पर तो रावण के स्थान पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और व्यवसायिों के पुलते फूंककर भी अपना विरोध जताया लेकिन किसानों के इस आंदोलनकारी से संबंधित समाचारों को अधिकतर इलैक्ट्रिोनिक्स मीडिया  ने प्रसारित तक नहीं किया तो वहीं प्रिंंट मीडिया में भी अधिकतर समाचार पत्रों से यह समाचार गायब ही रहा। बड़े-बड़े चैनल और समाचार पत्र सरकार के इशारे पर काम कर रहे हैं जिसे लेकर भी किसानग वर्ग अतिउत्साहित ही नजर आ रहा है। किसानों के आंदोलन को सरकार द्वारा जितना अधिक दबाने का प्रयास किया जा रहा है किसान वर्ग उतना ही मुखर होकर सरकार विरोधी नारे लगाने में जुटा है। सरकार ने यदि समय रहते किसानों को संतुष्ट करने और आंदोलन को समाप्त करवाने में सजगता से कदम नही उठाया तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।
पंजाब में किसानों ने रेलवे ट्रैक के साथ-साथ रिलायंस पैट्रोल पंप और टोल प्लाजा पर धरने-प्रदर्शन कर अवरोध उत्पन्न किए तो वहीं अब हरियाणा में भी यह आग फैलने लगी है। सिरसा रोड पर स्थित खुईयां मलाकाना गांव के निकट बने टोल प्लाजा पर किसान संगठन 28 अक्तूबर, बुधवार यानि आज बड़े स्तर पर धरना-प्रदर्शन करने की तैयारी कर चुका है। किसान नेता गांव-गांव जाकर जहां किसानों को इस प्रदर्शन में भाग लेने के लिए पे्ररित कर रहे हैं तो वहीं सोशल मीडिया पर भी जमकर अपील की जा रही है। इस विषय को लेकर सोशल मीडिया पर डाली जा रही पोस्ट मेें यह स्पष्ट रूप से कहा जा रहा है कि टोल प्लाजा से मुक्ति दिला देंगे यानि यह केंद्र सरकार के लिए मुश्किल पैदा करने वाला काम होगा क्योंकि टोल प्लाजा के माध्यम से केंद्र सरकार को कई करोड़ का राजस्व प्रतिदिन प्राप्त होता है।

Leave a Reply

Check Also

डबवाली पुलिस ने सुलझाई ब्लाइंड मर्डर की गुथी, हुआ चौंकाने वाला खुलासा

सदर थाना पुलिस …