Home मंडी डबवाली डबवाली में अब जर्जर पुलों की बदलेगी सूरत, MLA अमित ने उठाया ये मुद्दा

डबवाली में अब जर्जर पुलों की बदलेगी सूरत, MLA अमित ने उठाया ये मुद्दा

8 second read
0
0
750
विधायक अमित सिहाग ने एडिशनल चीफ सेक्रेटरी से मुलाकात कर पुलों के पुनः निर्माण की मांग की
प्री बजट सत्र में मुख्यमंत्री के समक्ष भी उठाया था मामला
मंडी डबवाली- पन्नू
हल्का डबवाली के विधायक अमित सिहाग ने हरियाणा  सिंचाई एवम् जल संसाधन के एडिशनल चीफ सेकेटरी देवेन्द्र सिंह से मुलाकात कर ज्ञापन देते हुए पंजाब से राजस्थान को हन हल्का डबवाली से होकर जाने वाली  राज कैनाल ,सरहिंद लिंक चैनल तथा सरहिंद फीडर नहर पर बने पुलों की जर्जर हालत की तरफ ध्यान दिलवाते हुए उन्हें दोबारा बनवाने की मांग की। विधायक ने कहा कि उपरोक्त नहरों पर डबवाली से संगरिया, गंगा से अबूबशहर, सुकेराखेड़ा से डबवाली, गंगा से गांव चौटाला, कालूआना से जंडवाला बिश्नोईयों, सकताखेड़ा से लोहगढ़ तक जाने वाले रास्तों पर जो पुल बने हैं वो अत्यंत जर्जर हालत में हैं और इनमें से दो पुल तो ऐसे हैं जिन्हें विभाग ने खुद कंडम घोषित कर बाकायदा बोर्ड लगाया हुआ है कि इस पुल का प्रयोग न किया जाए पर फिर भी सरकार इस और ध्यान नहीं दे रही और अगर जल्द इनका निर्माण न किया गया तो कभी भी कोई दुर्घटना हो सकती है। विधायक ने अधिकारियों के संज्ञान में लाते हुए कहा कि आगामी दिनों में उपरोक्त नहरों में नहरबंदी के कारण 72 दिनों तक पानी नहीं छोड़ा जाना है अतः इन दिनों में पुलों का निर्माण किया जा सकता है। विधायक की मांग का संज्ञान लेते हुए एडिशन चीफ सेक्रेटरी ने उपरोक्त मामले को चीफ इंजीनियर को फॉरवर्ड करते हुए इसका समाधान करने को कहा। उन्होंने विधायक को बताया कि उपरोक्त पुलों के रखरखाव का जिम्मा राजस्थान सरकार का है और राजस्थान के अधिकारियों से इसके समाधान के लिए संपर्क साधा गया है। उन्होंने विधायक को आश्वस्त करते हुए कहा कि जल्द ही उपरोक्त समस्या का समाधान किया जाएगा।
              विधायक नेअधिकारियों को बताया कि सकताखेड़ा से लोहगढ़ के रास्ते में जो पुल उपरोक्त नहर पर बना हुआ है उसका नक्शा सही नहीं बना हुआ जिसके चलते वहां अनेक हादसे हो चुके हैं और अनेक जाने जा चुकी हैं अतः उपरोक्त पुल के नक्शे को सही तरीके से दोबारा बना कर पुल का निर्माण किया जाए ताकि भविष्य में वहां कोई हादसा न हो। 
            ज्ञात रहे कि उपरोक्त मुद्दों को विधायक अमित सिहाग ने प्री बजट सत्र में भी ये मुद्दा  मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाते हुए  उठाया था और सरकार को चेताया था कि अगर उपरोक्त पुलों की वजह से कोई हादसा हुआ तो इसकी जिम्मेवार सरकार होगी। इसी कड़ी में विधायक ने अधिकारियों से मुलाकात कर सरकार का इस गंभीर मुद्दे की तरफ ध्यान दिलवाया है। विधायक ने कहा है कि अगर जरूरत पड़ी तो वो खुद मुख्यमंत्री से मुलाकात कर उपरोक्त समस्या का समाधान करने को कहेंगे।

Leave a Reply

Check Also

महाराजा अग्रसेन जी की जयंती के दूसरे चरण में नंदीशाला में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित

डबवालीअखिल भाë…