Home मंडी डबवाली देशव्यापी हड़ताल के चलते गरजे बैंक कर्मी, कामकाज रहा ठप

देशव्यापी हड़ताल के चलते गरजे बैंक कर्मी, कामकाज रहा ठप

9 second read
0
0
650
डबवाली -गिल्होत्रा
सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में चल रही हड़ताल शनिवार को दूसरे दिन भी जारी रही। इस दौरान बैंक अधिकारी व कर्मचारी सुबह से ही बैंकों में नहीं पहुंचे जिससे बैकिंग का कामकाज ठप रहा। सुबह 11 बजे अधिकारी व कर्मचारी सब्जी मंडी के नजदीक स्थित भारतीय स्टेट बैंक शाखा के बाहर एकत्रित हुए व धरना दिया। इसके बाद शहर के मुख्य बाजारों में भी शांतिपूर्ण रोष प्रदर्शन किया गया।
इस अवसर पर नवदीप बांसल, एसके मित्तल, सुभाष मेहता, गोबिंद गुप्ता, कृष्ण गिल्होत्रा, प्रेम गुप्ता, कुलदीप बांसल, रवि नंदन, टेकचंद बागड़ी, विनोद कुमार आदि ने कहा कि सरकार की नीतियां बैंकों के विरुद्ध हैं और बैंक अधिकारियों व कर्मचारियों के हितों का बिल्कुल भी ख्याल नहीं रखा जा रहा। अधिकारी व कर्मचारी दिन-रात काम काज करते हुए अपनी ड्यूटी का निवर्हन करते हैं लेकिन इसके बावजूद सरकार उनकी समस्याओं व मांगों को लगातार नजर अंदाज कर रही है। इसीलिए उन्हें आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ा है। यहां तक कि हड़ताल के दौरान भी अधिकारियों व कर्मचारियों का वेतन काट लिया जाता है। इस प्रकार हड़ताल में अगर बैंक उपभोक्ताओं का नुकसान होता है तो अधिकारियों व कर्मचारियों को भी नुकसान सहना पड़ता है। उन्होंने कहा कि बैंक अधिकारियों व कर्मचारियों की मांगें पिछले लंबे से लंबित हैं जिन्हें सरकार पूरा नहीं कर रही है। इनमें नवंबर 2017 से लंबित वेतन वृद्धि, पुरानी पेशन योजना लागू करने, 5 दिन बैंकिंग, फैमिली पेंशन में बढ़ोतरी व अन्य मांगें हैं जिन्हें सरकार द्वारा नहीं माना जा रहा। उन्होंने चेताया कि अगर सरकार ने इसके बावजूद भी मांगें नहीं मानी तो 11, 12 व 13 मार्च को लगातार तीन दिन बैंकों में हड़ताल रहेगी। इसके बाद 1 अप्रैल से सभी बैंक अधिकारी व कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगी जिसकी पूरी जिम्मेदारी सरकार की होगी। इस अवसर पर पंकज अरोड़ा, प्रदीप सोनोडिय़ा, प्रवीण सचदेवा, संदीप कुमार, गिपन, कमल छाबड़ा, हर्षल, अमित धवन, विजय मिढ़ा, एसएस जोड़ा, सुधीर कुमार, भरत जसूजा, ओम बांसल, विनोद कुमार, रंजना गोयल, एसके सोनी, भोला राम गर्ग, हरचरण सिंह बराड़, हरबंस लाल, मनोज मोंगा, लविश सिंघल, ओपी वधवा  व अन्य अधिकारी तथा कर्मचारी मौजूद थे। 

Leave a Reply

Check Also

दंपति ने शादी की 54वीं सालगिरह पर विद्यालय में लगाएं 54 पौधे

दंपति ने शादी क…