Home मंडी डबवाली बुढ़ापा पेंशन में 250 रूपए बढ़ोतरी सम्मान नहीं अपमान है बुजुर्गों का- अमित सिहाग

बुढ़ापा पेंशन में 250 रूपए बढ़ोतरी सम्मान नहीं अपमान है बुजुर्गों का- अमित सिहाग

9 second read
0
0
640

बुढ़ापा पेंशन में मात्र 250 रूपए की बढ़ोतरी सम्मान नहीं अपमान है बुजुर्गों का- अमित सिहाग

युवाओं को वितरित की खेल सामग्री,कहा नशे से युवाओं को दूर करने के प्रयास रहेंगे जारी।

मंडी डबवाली

विधायक अमित सिहाग ने हरियाणा सरकार द्वारा बुढ़ापा पेंशन में की गई बढ़ोतरी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ये ना मात्र बढ़ोतरी बुजुर्गों का सम्मान नहीं अपमान है।
यह बात उन्होंने अपने धन्यवादी दौरे के दौरान अलिकां, मसीतां, मौजगढ़, लंबी, गिद्दरखेड़ा, सुखेराखेड़ा, राजपुरा माजरा, ढाणी गोबिंदगढ़, लखुआना गांवों में अपने संबोधन में कही। उन्होंने जजपा और बीजेपी को अपना चुनावी घोषणा याद करवाते हुए कहा कि आप ने बुजुर्गों से पहली कलम से 5100 रूपए पेंशन करने के झूठे वायदे करके वोट लिए और जब आप सरकार बना चुके हो तो अब बुढ़ापा पेंशन में ये ना मात्र बढ़ोतरी कर के बुजुर्गो के साथ एक तरह से मज़ाक कर रहे हो। उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि बिना किसी बहाना बनाए तुरंत अपना चुनावी वायदा पूरा करते हुए पेंशन 5100 रूपए करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जेजेपी ने चुनाव में जनता से वायदा किया था कि सरकार बनते ही बुढ़ापा पेंशन के लिए पुरुषों की उम्र 58 साल तथा महिलाओं की 55 साल की जाएगी, सरकार ने इसे भी पूरा नहीं किया। इसी प्रकार चुनावों में कहा गया कि पहली कलम से किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा उस पर भी अब कोई किसी तरह का काम सरकार ने नहीं किया। उन्होंने कहा कि जनता ने बीजेपी के खिलाफ जजपा को वोट दिया पर जजपा ने जनता से धोखा किया और अपने निजी स्वार्थ के लिए बीजेपी से हाथ मिला लिया।
उन्होंने गांव लंबी में युवाओं को खेल सामग्री वितरित करते हुए नशे के खिलाफ खड़े होने का आवाह्न किया उन्होंने कहा कि आज जवानी को नशे से बचाना बहुत ही जरूरी है युवाओं का ध्यान अगर नशे से मोड़ कर खेलों की तरफ हो जाए तो इस से भी युवाओं को नशे से दूर किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार 25 दिसंबर को नशे के खिलाफ दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन कर युवाओं का ध्यान खेलों की तरफ करने का प्रयास किया गया इसी प्रकार के उनके प्रयास जारी रहेंगे ।
वरिष्ठ कांग्रेस नेता डॉ के वी सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि वर्तमान सरकार जो अनुचित गठबन्धन से बनी है जनविरोधी है। उन्होंने कहा कि जहां कांग्रेस की हुड्डा सरकार के समय किसानों की फसलों के अच्छे दाम मिलते थे वर्तमान में सरकार ने लागत दुगनी कर के दाम आधे कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि जहां कांग्रेस राज में मनरेगा के तहत रोजगार दिया जाता था गरीबों को 100-100 गज के प्लाट दिए जाते थे जरूरतमंदो के पीले कार्ड बनाए जाते थे वहीं आज की ये सरकार न तो कोई रोजगार दे रही है न ही कोई प्लाट, जहां तक पीले कार्ड की बात है कार्ड बनाने की जगह कार्ड काटे जा रहे हैं। इस अवसर पर भारी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Check Also

प्रेस क्लब अध्यक्ष फ़तेह सिंह आजाद ने पूर्व विधायक के 100वें जन्मदिन पर दी शुभकामनाएं

मंडी डबवाली। प…