Home मंडी डबवाली विधायक अमित सिहाग ने हल्के धन्यवादी दौरे पर भाजपा पर बोल हमला

विधायक अमित सिहाग ने हल्के धन्यवादी दौरे पर भाजपा पर बोल हमला

8 second read
0
0
244

 मंडी डबवाली

सोमवार को हल्का डबवाली के विधायक अमित सिहाग ने अपने धन्यवादी दौरे के तहत गांव मटदादू, झुट्टीखेड़ा, रामपुरा बिश्नोईयां, रामगढ़, रिसलियाखेड़ा, बिज्जुवाली, चकजालू, कालूआना व लौहगढ़ गांवों में जा कर गांववासियों का उन्हें ऐतिहासिक जीत दिला कर विधानसभा भेजने पर आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि हल्का डबवाली से मुझे 28 साल बाद कांग्रेस प्रत्याशी के रूप जो जीत आपने दिलवाई है यह जीत आप सब की जीत है और मैं विश्वास दिलवाता हूं कि जिस उम्मीद से आप ने मुझे विधानसभा में भेजा है मैं उस उम्मीद पर खरा उतरने का प्रयास करूंगा।
         अपने संबोधन में विधायक अमित सिहाग ने कहा कि इस साल का जो केंद्रीय बजट सरकार ने पेश किया है वो सरासर किसान व मजदूर विरोधी है और ये किसानों व मजदूरों के साथ धोखा है। उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं कि वो 2022 में किसानों की आमदनी दुगना कर देंगे लेकिन एनएसओ के आंकड़ों के मुताबिक किसानों की वार्षिक आय 6000 रूपए बताई गई है अगर हम मोदी जी की बात को मान भी लें तो 2022 तक किसान की आमदनी 12000 रूपए वार्षिक होगी जोकि सरासर किसानों से अन्याय है। उन्होंने कहा कि कृषि का बजट मात्र 5 फीसदी बढ़ाया है वहीं महंगाई 7.5 फीसदी हो गई है इस तरह से ये बजट तो घाटे का बजट है। उन्होंने कहा कि एफसीआई का खरीद बजट जो पहले 1 लाख 51000 करोड़ था उसे 50 प्रतिशत घटा कर 76000 करोड़ कर दिया गया है और जो आंकड़ों के अनुसार पहले सरकार उत्पादन का 6 प्रतिशत फसल खरीद करती थी उस को घटा कर 3 प्रतिशत कर दिया गया है जिस से शंका पैदा होती है कि इस बार शायद गेहूं की फसल की खरीद पूरी ना की जाए जिस से किसानों को प्राइवेट एजेंसियों पर निर्भर होना पड़ेगा। विधायक ने कहा की फसल बीमा योजना में 1500 करोड़ रुपए और खाद्य सब्सिडी में 9000 करोड़ रुपए कम कर दिए गए हैं । इस हिसाब से तो आमदनी की जगह लागत दुगनी कर गई है जो की किसानों के साथ धोखा है किसान आर्थिक रूप से और कमजोर हो जाएंगे।उन्होंने कहा कि सरकार श्वेत क्रांति और मछली पालन को बढ़ावा देने की बात करती है इनके बजट में भी कोई खास बढ़ोतरी नहीं की है, इन सब को देखते हुए प्रधामंत्री जी कैसे कह रहे हैं कि किसानों की आमदनी दुगनी होगी। विधायक ने कहा कि जो नरेगा का बजट 71000 करोड़ था उसे भी 13 प्रतिशत घटा कर 61500 करोड़ कर दिया गया है जिस से गांव के मजदूर भी बेरो़गारी की राह पर आ खड़े होंगे। और पिछले 45 सालों में जो सबसे ज्यादा बेरो़गारी का आंकड़ा अब है उस में और बढ़ोतरी होगी।
            विधायक ने कहा कि हमारा देश कृषि प्रधान देश है देश की अर्थव्यवस्था कृषि पर आधारित है देश की अर्थव्यवस्था पहले ही कमजोर है और इस बजट में जो व्यस्था कृषि के लिए की गई है उस से देश की अर्थव्यवस्था और भी कमजोर होगी। इस अवसर पर भारी संख्या में ग्रामीण व कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

नशे से युवक की मौत, पूरी चौकी लाइन हाजिर

संगरिया- पन्न ट…