Home राज्य हरयाणा हरियाणा पुलिस ने दी ढील, तो अब दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर पर बढ़ाई सख्ती, सिर्फ जरूरी सेवाओं वालों की एंट्री

हरियाणा पुलिस ने दी ढील, तो अब दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर पर बढ़ाई सख्ती, सिर्फ जरूरी सेवाओं वालों की एंट्री

14 second read
0
0
734

हेमराज बिरट, तेज़ हरियाणा नेटवर्क:

दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर सोमवार से पहले तक हरियाणा पुलिस ने बॉर्डर को सील कर रखा था, अब दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर सील कर दिया है। दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर पर सख्ती कर दी है, सिर्फ जरुरी सेवाओं से जुड़े या मूवमेंट पास वाले लोगों को ही दिल्ली जाने दिया जा रहा है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल द्वारा सोमवार को दिए गए आदेश के बाद यह सख्ती हुई है। यह रोक 8 जून तक के लिए है। इसके चलते मंगलवार सुबह गुड़गांव, फरीदाबाद, सोनीपत, बहादुरगढ़ बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस ने आम लोगों की आवाजाही बंद कर दी है। इस वजह से दिल्ली-गुड़गांव बॉर्डर पर फिर से वाहनों का जमावड़ा लग गया है। बड़ी संख्या में गुड़गांव से दिल्ली काम पर जाने वाले लोग बॉर्डर के दूसरी तरफ खड़े रहे।

-अब 14 के बजाय 10 दिन में डिस्चार्ज होंगे मरीज:
केंद्र की गाइडलाइंस के मुताबिक, कोरोना मरीजों को 3 दिन बुखार न आने के बाद डिस्चार्ज किया जा सकता है। पहले 14 दिन अस्पताल में रखने का प्रावधान था। अब प्रदेश सरकार ने केंद्रीय गाइडलाइन के अनुसार, 10 दिन में मरीज को डिस्चार्ज करने का फैसला लिया है। इनका दूसरा सैंपल 7वें दिन लेंगे, ताकि दो दिन में रिपोर्ट आने पर 10वें दिन डिस्चार्ज किया जा सके।

-सभी डीसी पोस्टर तैयार कर जिले के सार्वजनिक स्थलों पर लगाएंगे:
राज्य के सभी जिलों के डीसी अपने-अपने जिलों का मंगलवार रात एक पोस्टर तैयार करेंगे, जिसमें फोन नंबर सहित कोविड-19 टेस्ट लैब की पूर्ण जानकारी होगी। यदि कोई व्यक्ति किसी भी समय कोविड-19 का टेस्ट करवाना चाहता है तो उसे जानकारी होनी चाहिए कि उसे अपने जिले में प्राइवेट या सरकारी किस नजदीकी लैब में जाना है। सभी प्रकार की लैब, आइसोलेटिड वार्डस, होम क्वारंटाइन तथा कोविड-19 अस्पतालों में बेड की सुविधा सभी के मोबाइल नंबरों की जानकारी समेत पोस्टर के रूप में सार्वजनिक स्थलों पर डिस्पले की जानी चाहिए। यह आदेश चीफ सेक्रेटरी केशनी आनंद अरोड़ा ने जारी किए हैं।

-हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 2356 पहुंचा:
अमेरिका से लौटे 21 कोरोना पॉजिटिव के साथ गुड़गांव में 903, फरीदाबाद में 392, सोनीपत में 212, झज्जर में 101, नूंह में 72, अंबाला में 54, पलवल में 70, पानीपत में 69, पंचकूला में 27, जींद में 29, करनाल में 52, रोहतक में 45, महेंद्रगढ़ में 41, रेवाड़ी में 23, सिरसा में 43, फतेहाबाद में 19, यमुनानगर में 9, हिसार में 53, कुरुक्षेत्र में 35, भिवानी में 38, कैथल में 29, चरखी-दादरी में 21 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।
वहीं हरियाणा में अब कुल 1055 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 284, फरीदाबाद में 168, सोनीपत में 148, नूंह में 65, झज्जर में 92, अंबाला में 40, पलवल 44, पानीपत में 39, पंचकूला में 25, जींद में 24, करनाल में 20, यमुनानगर में 8, सिरसा में 11, रोहतक में 11, महेंद्रगढ़ में 19, भिवानी में 6, हिसार में 5, कैथल में 5, फतेहाबाद में 7, कुरुक्षेत्र में 13, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी में 4 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं। अमेरिका से लौटे 2 मरीज ठीक हुए हैं।

Leave a Reply

Check Also

सिरसा 141 गांवों के किसानों को पराली न जलाने के लिए विभाग करेगा जागरूक

141 गांवों में रैल…