Home राज्य पंजाब सच्चा सौदा द्वारा संचालित शिक्षण संस्थानों में आर्थिक तंगी, जिला प्रशासन से की सैलरी देने की गुहार

सच्चा सौदा द्वारा संचालित शिक्षण संस्थानों में आर्थिक तंगी, जिला प्रशासन से की सैलरी देने की गुहार

8 second read
0
0
1,118

सिरसा—–डेरा सच्चा सौदा आर्थिक संकट से जूझ रहा है।डेरा सच्चा सौदा द्वारा संचालित किए जा रहे शिक्षण संस्थानों में आर्थिक तंगी की वजह से ही स्टाफ को वेतन इत्यादि का भुगतान नहीं किया जा रहा। विभिन्न शिक्षण संस्थानों के शिक्षकों और अन्य स्टाफ सदस्यों ने आज जिला प्रशासन के समक्ष सैलरी देने की गुहार लगाई।  इन शिक्षकों का कहना है कि उन्हें 2 महीने से वेतन का भुगतान नहीं किया जा रहा। साथ ही साथ डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के जेल जाने के बाद से अब तक करीब 2 सालों का पीएफ भी नहीं जमा करवाया जा रहा। उपायुक्त और अतिरिक्त उपायुक्त को इस सिलसिले में ज्ञापन देने पहुंचे डेरा के विभिन्न शिक्षण संस्थानों के स्टाफ ने प्रशासन के समक्ष पुरजोर अपील की।

वहीँ स्टाफ सदस्य राजेश ने बताया कि अगस्त 2017 के बाद से उनका पीएफ नहीं जमा करवाया जा रहा। इसके अलावा उन्हें सैलरी के लिए भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। करीब 2 वर्षों से डेरा सच्चा सौदा के सभी खाते सीज हैं। अब तक उन्हें नगद भुगतान दिया जा रहा था लेकिन अब डेरा के पास भी भुगतान का संकट है। ऐसे में अब वे जाएं तो जाएं कहां । डेरा के प्रबंधकों ने उन्हें प्रशासन के समक्ष गुहार लगाने की बात कही। जिसके बाद में आज उपायुक्त से मिलने पहुंचे हैं।
दरअसल हाई कोर्ट के आदेश पर डेरा सच्चा सौदा के सभी खातों को सील कर दिया गया था । जिसके चलते काफी भुगतान डेरा सच्चा सौदा नहीं कर पा रहा। डेरा के शिक्षण संस्थानों को संचालित करने के लिए उपायुक्त की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई थी। अब सैलरी के संबंध में इसी कमेटी ने निर्णय लेना है। देखने वाली बात होगी कि आखिर कब इन स्टाफ सदस्यों को इंसाफ मिल पाता है यानी इन्हें सैलरी का भुगतान हो सकता है।

Leave a Reply

Check Also

डबवाली के विधायक अमित सिहाग ने बढ़ रहे करोना संक्रमण पर व्यक्त की गहरी चिंता

सरकार की गलत स्…